The Shore-temple, Mahabalipuram

महाबलीपुरम का ‘कला-ऐतिहासिक’ महत्व

चेन्नई से 60 km दूर स्थित है महाबलीपुरम, जिसे माम्मलपुरम के नाम से भी जाना जाता है. चेन्नई से पॉन्डिचेरी जाते वक्त यह रास्ते में पड़ता है. बंगलोर और चेन्नई […]

Meadows of Sangla Kanda.

सांगला कांडा की यात्रा , Sangla Meadows

किन्नौर, हिमाचल प्रदेश में 2700 मीटर की ऊंचाई पर, किन्नर कैलाश की छत्र छाया में बसी सांगला घाटी हिमाचल की सबसे खूबसूरत घाटियों में से है। इसी वादी में बसपा […]

Ceilings adorned with beautiful Vidhyadevis, Meghnad mandap, Ranakpur Temple,

रणकपुर की संध्या आरती

दिन भर रणकपुर के मंदिर को निहार कर, थके पैर किन्तु प्रसन्न और शांत मन लिए यात्रीगण, उसके बंद होने के समय अपने अपने वाहनों की ओर चल पड़े. मंदिर […]

Gajasurchamradhari Shiv

गजासुरचामृधारी शिव और कला दर्शन-विवेचन, Gajantak Form of Shiva

भारत के प्राचीन मंदिरों में शिल्प शास्त्र और वास्तु शास्त्र दोनों का ही नियमपूर्वक पालन किया गया है. वास्तुशास्त्र जहाँ भवन निर्माण के नियम को रेखांकित करता है, जिसमे मंदिर, […]

A false door at Bantaey Srei, Cambodia

कम्बोडिया के हिन्दू मंदिर; Banteay Srei, Cambodia

कंबोडिया के विश्व प्रसिद्ध अंकोर वात से सभी परिचित हैं. पर्यटक उसी को यहाँ का मुख्य पर्यटक स्थल मान कर अपनी यात्रा की योजना बनाते हैं, और उसी के आस […]